क्या है सुकन्या समृद्धि योजना, जानिए इससे जुड़े 3 नियम

New Delhi: बेटियों के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए विशेष सुकन्या समृद्धि योजना शुरू की गई थी। यह योजना बेटियों के भविष्य को सुरक्षित करने में मदद करती है।

अब सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए अपने नियमों में बदलाव किया है. इन नियमों में बदलाव से इसके फायदे बढ़ गए हैं। ऐसे में अगर आप इसमें निवेश करना चाहते हैं तो पहले इसमें होने वाले बदलावों के बारे में जान लें।

गौरतलब है कि सुकन्या समृद्धि योजना पर फिलहाल 7.6 फीसदी की सालाना ब्याज दर मिलती है। इस योजना में डाकघर या बैंक में निवेश किया जा सकता है। सुकन्या समृद्धि योजना आयकर नियमों में 1.50 लाख रुपये तक की कर छूट प्रदान करती है।

खाता निष्क्रिय नहीं किया जाएगा

इस योजना के लिए न्यूनतम राशि 250 रुपये है। यदि आपने न्यूनतम राशि जमा नहीं की होती, तो खाता निष्क्रिय कर दिया जाता। लेकिन अब इन नियमों में बदलाव किया गया है। अब यदि आप यह राशि जमा नहीं भी करते हैं तो भी आपका खाता निष्क्रिय नहीं होगा।

बेटी 18 साल की उम्र में कर सकती है ऑपरेशन

पहले जब लड़की 10 साल की थी, तब वह खाता संचालित करती थी, लेकिन अब 18 साल तक लड़की के माता-पिता खाते का संचालन कर सकते हैं। उसके बाद लड़की कर सकती है।

तीसरी बेटी के खाते में टैक्स छूट

पहले दो बेटियों के खाते पर आयकर की धारा 80सी के तहत टैक्स छूट मिलती थी। लेकिन अब तीसरी बेटी के जन्म और उसके नाम पर किए गए निवेश पर भी आयकर की धारा 80सी के तहत छूट मिल सकती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.