LIC IPO: IPO खरीदारों के लिए खुशखबरी, NSE ने किए कुछ बदलाव

New Delhi: अगर आप एलआईसी का आईपीओ खरीदने की योजना बना रहे हैं तो यह जानकारी आपके लिए काफी फायदेमंद होने वाली है। इस आईपीओ को खरीदने वालों को ध्यान में रखते हुए एक नियम में बदलाव कर सरकार को बड़ी खुशखबरी मिलने लगती है।

देखा जाए तो देश का यह सबसे बड़ा आईपीओ 4 मई से 9 मई तक आम निवेशकों के लिए खुलने जा रहा है। आपको बता दें कि सरकार के इस आईपीओ को निवेशकों का जबरदस्त रिस्पॉन्स मिलना शुरू हो गया है। इस आईपीओ को शुरुआती कुछ घंटों में 33 फीसदी सब्सक्रिप्शन मिल चुका है।

अब 5 दिन मिलने वाले हैं सब्सक्राइब करने के लिए 4 नहीं

शनिवार और रविवार को बाजार बंद रहने से आम निवेशकों को इश्यू को सब्सक्राइब करने के लिए 4 दिन का समय मिलना शुरू हो गया। लेकिन अब नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के नोटिफिकेशन में जानकारी मिली है कि खुदरा निवेशक शनिवार को भी सब्सक्राइब करके आईपीओ का फायदा उठा सकते हैं. इस बदलाव के बाद, आपके लिए 5 दिनों के लिए इस मुद्दे की सदस्यता लेना महत्वपूर्ण है।

21,000 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा गया है

इससे पहले बुधवार को भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) का आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) आम निवेशकों के लिए सुबह खोल दिया गया है। सरकार का लक्ष्य एलआईसी के साथ 3.5 फीसदी हिस्सेदारी बेचकर इस आईपीओ से 21,000 करोड़ रुपये जुटाना है। एलआईसी का आईपीओ 9 मई को बंद होने जा रहा है।

दिया गया प्राइस बैंड 902-949 रुपये है।

एलआईसी के आईपीओ का प्राइस बैंड 902-949 रुपये तय किया गया है। इसमें एलआईसी के मौजूदा पॉलिसीधारकों और कर्मचारियों के लिए कुछ शेयर रिजर्व रखा गया है। खुदरा निवेशकों और कर्मचारियों को प्रति शेयर 45 रुपये और पॉलिसीधारकों को 60 रुपये प्रति शेयर की छूट मिलने लगती है।

वैल्यूएशन 6 लाख करोड़ रुपये हुआ

आईपीओ के लिए एलआईसी का मूल्यांकन 6 लाख करोड़ रुपये किया गया है। सबसे पहले सरकार अपनी 5 फीसदी हिस्सेदारी बेचकर 30,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बना रही है। लेकिन अब सिर्फ 3.5 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की योजना बनाई जा रही है.

Leave a Comment

Your email address will not be published.