क्या करें ये आसान वास्तु उपाय सफलता और बिजनेस में मिलेगा ज्यादा पैसा

New Delhi: वास्तु शास्त्र का मानव जीवन में बहुत महत्व है। जब भी कोई व्यक्ति अपना घर बनाना चाहता है और जो कुछ भी खरीदारी करता है। वह इसे वास्तु के अनुसार बनाने की कोशिश करते हैं। व्यापार में लाभ प्राप्त करने के लिए यह आवश्यक है कि वास्तु के अनुसार घर, दुकान या कारखाना स्थापित किया जाए। मेहनत करने के बाद भी अगर व्यापार नहीं बढ़ रहा है तो इसका एक कारण वास्तु दोष भी हो सकता है। वास्तु दोषों को दूर कर व्यापार में भी उन्नति की जा सकती है। इसके लिए कुछ खास बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है।

नकद काउंटर का जगह

ऐसा माना जाता है कि किसी दुकान, प्रतिष्ठान या कारखाने में उत्तर दिशा में कैश काउंटर रखने पर लक्ष्मी का वास होता है। उत्तर दिशा को कुबेर की दिशा भी कहा जाता है। इसलिए धन-दौलत बढ़ती है और दरिद्रता दूर होती है।

बेकार वस्तुओं से परहेज़

अपने कार्यस्थल, दुकान या कारखाने में कोई भी अनावश्यक कचरा जमा न होने दें। इससे नकारात्मक ऊर्जा का संचालन होता है और व्यापार आपके मन को परेशान कर सकता है।

गुरुजी का बैठना का जगह

व्यापार में उन्नति के लिए यह आवश्यक है कि प्रतिष्ठान का स्वामी दक्षिण-पश्चिम कोने में बैठे और उसका मुख उत्तर दिशा की ओर हो, उसके पीछे पक्की दीवार हो। उस दीवार में कोई खिड़की या झरोखा नहीं होना चाहिए। इससे धन प्राप्ति के योग भी बनते हैं और व्यापार में सफलता प्राप्त होती है।

प्रार्थना कार्यक्रम का स्थान का महत्त्व

कार्यस्थल पर ईशान कोण में पूजा घर बनाकर पूजा करनी चाहिए। उत्तर-पूर्व दिशा में जूते-चप्पल नहीं रखना चाहिए। इससे समृद्धि आती है और व्यापार में कोई वृद्धि नहीं होती है। ईशान कोण स्वच्छ होने पर ग्राहक आकर्षित होता है और लक्ष्मी की कृपा भी बरसती है।

वास्तु शास्त्र की इन छोटी-छोटी बातों को ध्यान में रखकर व्यापार को आगे बढ़ाया जा सकता है, इससे धन की वर्षा होती है, मन प्रसन्न होता है और दरिद्रता दूर होती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.